वक़्त अच्छा भी आयेगा

दिल में इक लहर सी उठी है अभी
कोई ताज़ा हवा चली है अभी

A wave of emotions has arisen in my heart just now
A fresh gush of wind has started blowing just now

शोर बरपा है ख़ाना-ए-दिल में
कोई दीवार सी गिरी है अभी 

A noise has been induced in my heart
And a wall has fallen just now

भरी दुनिया में जी नहीं लगता
जाने किस चीज़ की कमी है अभी

I can’t enjoy a bit  in this happening world
I don’t  know  what is missing even now

याद के बे-निशाँ जज़ीरों से
तेरी आवाज़ आ रही है अभी

In the unknown islands of thoughts
I can listen to your voice even now

शहर की बेचिराग़ गलियों में
ज़िन्दगी तुझ को ढूँढती है अभी

In the deserted and lampless streets of the city
My life has been searching for you even now

सो गये लोग उस हवेली के
एक खिड़की मगर खुली है अभी

People of this mansion have gone to sleep
But,one of the windows is still open

तुम तो यारो अभी से उठ बैठे
शहर में रात जागती है अभी

My friends ! you woke up so early
The night in the city hasn’t disappeared 

वक़्त अच्छा भी आयेगा ‘नासिर’
ग़म न कर ज़िन्दगी पड़ी है अभी

Good times will come in your life
Don’t get disheartened, the life has still much to offer
 

~Nasir Kazmi

सफ़र में धूप तो होगी

सफ़र में धूप तो होगी, जो चल सको तो चलो
सभी हैं भीड़ में, तुम भी निकल सको तो चलो
किसी के वास्ते राहें कहाँ बदलती हैं
तुम अपने आप को खुद ही बदल सको तो चलो
यहाँ किसी को कोई रास्ता नहीं देता
मुझे गिराके अगर तुम संभल सको तो चलो
यही है जिंदगी, कुछ ख़्वाब चंद उम्मीदें
इन्ही खिलौनों से तुम भी बहल सको तो चलो

~निदा फ़ाज़ली

क्यूँ हांफती सी…नाव है तेरी

लहरों की गर्दन कसके डाल फंदे रे,
कि दरिया बोले वाह रे पंथी, सर आँखों पे नाव है तेरी

Dangling Contemplations...

Movie: उड़ान (2010) Music : अमित त्रिवेदी Lyrics : अमिताभ भट्टाचार्य Singers: मोहन, जॉय बरुआ, न्युमान पिन्टो


चढ़ती लहरें लांघ न पाए क्यूँ हांफती सी नाव है तेरी
तिनका-तिनका जोड़ ले सांसेंक्यूँ हांफती सी…नाव है तेरी
उलटी बहती धार है बैरीके अब कुछ कर जा रे बंधू

Against the rising waves
why is your boat  helpless and tired ?
living one gasp at a time
why is your boat  helpless and tired ?
though the currents are against you
it’s time to make a difference

जिगर जुटा के पाल बाँध ले,
है बात ठहरी जान  पे तेरी…शान पे तेरी

हैय्या हो की तान साध ले,
जो बात ठहरी जान  पे तेरी…शान पे तेरी
चल जीत-जीत लहरा जा,
परचम तू लाल फहरा जा,
अब कर जा तू या मर जा, कर ले तैयारी,
उड़ जा बन के धूप का पंछी,
छुड़ा के गहरी छाँव अँधेरी, छाँव अँधेरी,
तिनका-तिनका जोड़…

hoist…

View original post 127 more words

Muhammad Ali…’The Greatest’

He said ” I am gonna show you how great I am ” and he showed his greatness to the world. He was fearless, ruthless and nasty when it came to boxing. The world is going to miss a great champion. Click here to know more about the champion

Here I am posting few quotes said by the great man himself.

  Image Source~ Google

आनंद मरा नहीं, आनंद मरते नहीं !

Remembering Anand! Here I am quoting few lines from my all time favourite movie.

khanna-played-role-cancer-patient-who-dies-smiling-incredible-ease-anand

 

मौत तू एक कविता है
मुझसे एक कविता का वादा है मिलेगी मुझको
डूबती नफ़्ज़ोँ में जब दर्द को नींद आने लगे
ज़र्द सा चेहरा लिए चाँद उफ़क़ तक पहुंचे
दिन अभी पानी में हो
रात किनारे के करीब
न अँधेरा न उजाला हो
न अभी रात न दिन
जिस्म जब ख़त्म हो
और रूह को जब सांस आये
मुझसे एक कविता का वादा है मिलेगी मुझको ||

 

Eternal truth spoken by the superstar

बाबू मोशाय ..हमारी मुश्किल मालूम है क्या है …हम आने वाले गम को खीच तान कर आज की ख़ुशी पर ले आते हैं… और उस खुसी में  ज़हर घोल देते हैं ||

आहिस्ता चल ज़िन्दगी

आहिस्ता चल ज़िन्दगी, अभी कई क़र्ज़ चुकाना बाकी है
कुछ दर्द मिटाना बाकी है, कुछ फ़र्ज़ निभाना बाकी है
रफ़्तार में तेरे चलने से कुछ रूठ गए, कुछ छूट गए
रूठों को मनाना बाकी है, रोतों को हसाना बाकी है
कुछ हसरतें अभी अधूरी हैं, कुछ काम भी अभी ज़रूरी हैं
ख्वाहिशें जो घुट गयीं इस दिल में, उनको दफ़नाना बाकी है
कुछ रिश्ते बन कर टूट गए, कुछ जुड़ते जुड़ते छूट गए
उन टूटे छूटे रिश्तों के ज़ख्मों को मिटाना बाकी है
तू आगे चल मैं आता हूँ, क्या छोड़ तुझे भी पाउँगा
इन साँसों पर हक़ है जिनका, उनको समझाना बाकी है
आहिस्ता चल ज़िन्दगी, अभी कई क़र्ज़ चुकाना बाकी है ||